KNOWKAHINDI

KNOWKAHINDI
KNOWKAHINDI

एरोवेरा का उत्पत्ति कहाँ से हुआ था |

दोस्तों आपने तो एरोवेरा का पौधा तो देखा ही होगा | जिसके पत्तो से रस दार प्रदार्थ निकलता है | एरोवेरा को धृत कुमारी कारगंदल ,ग्वारपाठा के नाम से भी जानते है | कहा जाता है की इसकी उत्पत्ति उत्तर अफ्रीका से हुआ था | एरोवेरा विश्व के सभी जगह नहीं पायी जाती है | एरोवारा का उल्लेख आयुर्वेद के प्रचीन गंर्थो में है | एरोवेरा के पौधा में थाल नहीं होता है | एरोवेरा का उपयोग आयुर्वेदिक में किया जाता है | एरोवेरा का उपयोग सजावट के रूप में भी किया जाता है | एरोवेरा के मांग को को देखते हुए इसकी खेती बहुत मात्रा में की जाती है | एरोवेरा का स्वाद तो बहुत ख़राब होता है | लेकिन इसमें औषधि गुण पाये जाते है | एरोवेरा को कम पानी और कम उर्वरक में भी उगाया जा सकता है | आपने भी बहुत लोग के घर में तो देखे भी होंगे | एरोवेला को गमले में भी उगाया जा सकता है | क्योकि एरोवेरा को कम उर्वरक में भी उगाई जाती है | एरोवेरा की लम्बाई करीब 60 सेंटीमीटर से 100 सेंटीमीटर के बीच  होता है | तो दोस्तों जानते है कुछ एरोवेरा के उपयोग में बारे में |

green aloe vera plant


खून की कमी - एरोवेरा का उपयोग खून की कमी को दूर करने के लिए करते है |

घाव को भरने के लिए - एरोवेरा का उपयोग जलने या कटने  में  भी किया जाता है | एरोवेरा से घाव बहुत जल्दी भर जाता है | 

green leafed plant

शुगर के लिए - आजकल शुगर का बीमारी आम बीमारी हो गयी है | शुगर से बचने के लिए सबसे अच्छा दवाई है पैदल चलना , दौडना, योग करना ,अगर आप ये सब में से कुछ भी करते है तो आपको शुगर कभी नहीं होगा | एरोवेरा के उपयोग से शुगर कंट्रोल होता है


पेट के लिए - आज के भोजन में खाद मिला होता है | और बाहर के भोजन करने से पेट की बीमारी हो जाती है | और कहा जाता है की 80 % बीमारी पेट की खराबी के कारण होता है | पेट के बीमारी से बचने के लिए जहा तक हो घर का ही भोजन करना चहिए | ज्यादा तेल से बने भोजन कम करना चहिए | एरोवेला पेट सबन्धित बीमारी से बचाता है | 

जोड़ो के दर्द -  एरोवारा के सेवन से जोड़ो के दर्द से आराम मिलती है | 

प्रतिरोधक क्षमता - एरोवेरा से प्रतिरोधक क्षंमता में वृध्दि होती है | 

 त्वचा के लिए - एरोवेरा के जूस पिने से त्वचा में निखार आता है | 

सिर दर्द के लिए - हल्दी और एरोवारा को मिलकर सिर में लगाने से दर्द ठीक हो जाता है |

आखो के लिए - एरोवेरा के  सेवन से आखो का समस्या नहीं होता है | 

ऊर्जा के लिए - एरोवेरा के नियमित सेवन से  शरीर में नई ऊर्जा उत्पन्न होती है |  



टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां