KNOWKAHINDI

KNOWKAHINDI
KNOWKAHINDI

बिहार का नाम बिहार क्यों पड़ा |

दोस्तों आज मैं आपको बिहार के इतिहास और बिहार का नाम बिहार क्यों पड़ा और इस समय बिहार की स्थिति क्या है इसके बारे में बताऊगा | बिहार इंडिया में उत्तरी भाग में स्थित एक ऐतिहासिक राज्य है | बिहार का प्राचीन नाम मगध था | उस समय मगध का राजधनी राजगीर था | बिहार के पूरब में पश्चिम बंगाल उतर में नेपाल पश्चिम में उतर प्रदेश और दक्षिण में झारखण्ड है | बिहार के विक्रमशिला विश्वविद्यालय और नलंदा विश्वविद्यालय में विदेशों से छात्र विद्या अध्ययन करने बिहार आते थे | बिहार के धरती को बौद्ध का धरती कहा जाता है |  इसी धरती से जैन धर्म का जन्म हुआ और सिख धर्म के दसवें गुरु ,गुरुगोविंद का का जन्म भी बिहार में हुआ था | बिहार चरक ,वाल्मीकि ,चाणक्य का धरती रहा है |  तो दोस्तों आइए जानते है बिहार के बारे में विस्तार से |




 बिहार का इतिहास
बिहार का बहुत  पुराना इतिहास है | हिन्दु धर्म के शास्त्र रामायण में बिहार का जिक्र है | उस समय बिहार को मगध कहा जाता था | बिहार का प्राचीन नाम मगध था | वाल्मीकि जो रामायण के रचिता थे | वे भी बिहार से ही थे | सीता जी का जन्म बिहार के मिथिला में हुआ था ा सीता राजा जनक की पुत्री थी | श्री राम के पुत्र लव कुश का जन्म वाल्मिकी जी के आश्रम में हुआ था | दुनिया के दो महान धर्म बौद्ध धर्म और जैन धर्म का जन्म स्थल बिहार ही है | सिख धर्म के अंतिम गुरु भी बिहार के थे | इसे आज पटना साहिब के नाम से जाना जाता है | जो सिखो का पांच पवित्र स्थानों में से एक स्थान है | चाणक्य भी बिहार के थे | वही चाणक्य जिसकी निति बहुत ही विख्यात है | चाणक्य चन्द्रगुप्त के प्रधानमंत्री थे | राजा अशोक भी बिहार के ही थे | दुनिया को 0 शून्य देने वाला आर्यभट्ट बिहार में थे | और भी बहुत महान लोग बिहार में जन्म लिया | दोस्तों अब जानते है बिहार के मध्यकालीन इतिहास को  |

बिहार का मध्यकालीन इतिहास 
विदेशी शासको के आक्रमण से बिहार को का क्षति हुई | इस कारण मध्यकालीन युग में बिहार राजनितिक और संस्कृतिक केंद्र  के रूप में अपनी प्रतिष्ठा गंवा चूका था | तब उस समय एक ही शासक लोकप्रिय था वह था शेरशाह | आधुनिक बिहार का सासाराम शेरशाह सूरी का केंद्र था |

बिहार का आधुनिक इतिहास 


फिरंगी को धूल चटाने वाला बिहार के शेर बाबु वीर कुंवर सिंह बिहार के ही थे | भले ही महत्मा गाँधी का जन्म गुजरात में हुआ था लेकिन गाँधी जी का कर्मभूमि बिहार ही है | गाँधी जी का प्रथम आंदोलन बिहार के चम्पारण से शुरू हुआ था | भारत के प्रथम राष्टपति डा. राजेंद्र प्रसाद बिहार के सारण जिला के थे | दोस्तों आपने देखा की लोग विदेश से विद्या अध्यन करने बिहार आते थे |

बिहार का नाम बिहार क्यों पड़ा 
बिहार शब्द पाली और संस्कृत भाषा विहार से बना है | जिसका मतलब निवास या रहने का जगह होता है | विहार शब्द से बिहार बना |

बिहार का वर्तमान हालत 
बिहार की राजधनी पटना है जिसका पुराना नाम पाटलीपुत्र था | बिहार का सबसे बड़ा नगर पटना ही है | बिहार में 38 जिला है | वर्तमान में बिहार एक पिछड़ा राज्य है लेकिन अब बिहार के हालत तेजी से विकास कर रहा है |
तो दोस्तों आशा करते है की यह पोस्ट आपको अच्छा लगा होगा | 


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ