KNOWKAHINDI

KNOWKAHINDI
KNOWKAHINDI

आसमान हमे नीला क्यों दिखाई देता है |

दोस्तों दुनिया अजीब है  | जब आप अपने सिर को ऊपर करते हो तो आपको सिर्फ नीला रंग के ही आकाश क्यों दिखाई देता है अन्य रंग के क्यों नहीं | अगर विज्ञान को माने तो विज्ञान कहता है की आकाश का कोई रंग होता ही नहीं है | और स्पेस से देखने पर आकाश काला दिखाई देता है | तो दोस्तों आइए जानते है आकाश के रहस्य के बारे में | 




दोस्तों कोई वस्तु को जब हम देखते है तो वह डायेक्ट हमे दिखाई नहीं देता है | प्रकाश वस्तु से टकरा कर हमारे आँखों तक पहुँचती है | सूरज से जो प्रकाश निकलता है वह रंग सफेद होता है | इसमें सात रंग समलित होते है | वह सातो रंग इसलिए प्रकाश है | लाल ,नारंगी ,पीला,हरा ,नीला ,जमुनी ,बैगनी | जब ये सातो रंग हमे दिखाई देती है तो इसे इंद्रधनुष कहा जाता है | सूरज की सफेद किरण वायुमंडल से जब होकर गुजरती है किरण हवा में मौजूद कणों और अणुओं से टकराती है | इस टकराव के कारण सफेद प्रकाश के विभिन्न रंग बिखर जाते है नीला रंग का वेवलेंथ सबसे काम होती है | नीला रंग का बिखराव सबसे ज्यादा होता है | और लाल रंग की प्रकाश का वेवलेंथ नीले रंग के मुकाबले ज्यादा होती है | इसलिए लाल प्रकाश कम बिखरता है | इस प्रकाश जब सूरज की किरणे पृथ्वी के वायुमंडल से होकर गुजरती है और जब सूरज आकाश ऊपर होती है तो नीला प्रकाश वातावरण में फैल जाते है | इस कारण आकाश हमे नीला दिखाई देने लगता है और आकाश नीला दिखाई देता है |  

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ