KNOWKAHINDI

KNOWKAHINDI
KNOWKAHINDI

इंडिया का सबसे बड़ा 10 राज्य कौन कौन से है | Which are the 10 largest states of India

दोस्तों भारत देश का नाम सुनते ही दिल में कुछ अगल फिलिन होने लगता है | हो भी क्यों ना भारत हमारी माँ है | दोस्तों भारत का इतिहास देखे तो दुनिया में कोई देश नहीं है जो भारत से पवित्र हो भारत देश का तुलना अन्य देश से नहीं हो सकता है | जो भारत देश में हो गया | वह अब किसी देश में हो ही नहीं सकता | भारत को यहां के संत मुनियो और ऋषि ने मिलकर एक महान देश बनाया | इस धरती पर मर्यादा पुरुषोत्तम श्री कृष्ण और श्री राम जैसे देवता अवतार लिए | दुनिया को अहिंसा परमो धर्म का पाठ सीखने वाले महात्मा बुध्द जैसे महान पुरुष का जन्म हुआ | महानपुरुष महावीर जी का जन्म यहां हुआ | गुरुनानक जैसे लोग इस पवित्र धरती जन्म लिए और बहुत से महान लोग इस पावन धरती पर जन्म लिए | भारत एक बहुत ही विशाल देश है इस समय भारत में 28 राज्य और 9 केंद्र शासित प्रदेश है | सब राज्य में आपको बहुत कुछ नया मिलेगा | सब राज्य का अपना अपना संस्कृति है | भारत संस्कृति का देश है | तो दोस्तों आइये जानते है भारत के 10 सबसे बड़े राज्यों के बारे में और सब राज्यो के बारे में रोचक जानकारी भी |  तो दोस्तों स्टार्ट करते है |

राजस्थान Rajsthan - राजस्थान इंडिया का सबसे बड़ा राज्य है | यह एक बहुत ही सुन्दर राज्य है | आजादी के पहले यह प्रदेश राजपूताना कहलाता था | राजपुताना का मलतब राजपूतो का नगरी | वर्तमान में राजस्थान का राजधनी जयपुर है | जयपुर राजस्थान का सबसे बड़ा नगर है | हवा महल दोस्तों यह नाम आपने कभी ना कभी जरूर सुने होंगे यह हवा महल जयपुर में स्थित है | जयपुर को गुलाबी शहर के नाम से जाना जाता है | जयपुर का स्थापना सन 18 नवंबर 1727 में सवाई जयसिंह  जी ने किये थे |  

सवाई जयसिंह श्री कृष्ण का बहुत बड़ा भक्त थे | इसलिए सवाई जयसिंह ने हवा महल को श्री कृष्ण के ताज के समान बनवाये थे | क्या आपको पता है की हवा महल में कितने खिड़की है | दोस्तों हवा महल में 953 खिड़की है | इतना खिड़की बनवाने के पीछे यह उदेश्य था की इस महल में हमेशा हवा आते रहे और गर्मी का अनुभव हो ही नहीं | इसलिए इसे हवा महल कहते है | राजस्थान को लगभग हर जिला को रंगो के नाम से जाना जाता है | जैसे उदयपुर को सफेद , जोधपुर को नीला , और जयपुर को गुलाबी शहर से जाना जाता है | राजस्थान में 33 जिला है | इनमे से सबसे बड़ा जिला जयपुर है और सबसे छोटा जिला धौलपुर है | राजस्थान में मुख्यभाषा या राजभाषा हिंदी और ब्रजभाषा है | दोस्तों राजस्थान के राजधानी जयपुर का मतलब होता है जीत का नगर | |

तो दोस्तों आइये जानते है राजस्थान के कुछ दर्शनीय स्थान के बारे में - जंतर मंतर ,रामनिवास बाग़ , जयपुर का जैन मंदिर , जयगढ़  किला , रामगढ़ झील , अजमेर का दरगाह , लेक पैलेस , जल महल , दिलवाड़ा मंदिर आदि बहुत से जगह है घूमने के लिए | उदयपुर को झीलों का शहर कहा जाता है | यह शहर प्रकृतिक का सौंदर्य (Nature) के लिए जाना जाता है | राजस्थान में ब्रह्मा जी मंदिर है | 

राजस्थान कृषि और पशुपालन राज्य (State) है | राजस्थान से सब्जी और आनाज का निर्यात भी होता है | राजस्थान में लगभग सभी फसल का उत्पादन होता है | राजस्थान के मुख्य फल इस प्रकार है | चावल, जौ, ज्वाल, गेहू , दाल ,तिलहन , कपास आदि का खेती बहुत होती है | वाल्मीकि जी ने राजस्थान को मरुकान्तर कहा है | राजपुताना शब्द का प्रयोग सबसे पहले जॉर्ज थॉमस ने किया था | दोस्तों इस राज्य में घूमने के दृष्टि से बहुत ही अच्छा राज्य है | अगर आप सैर पर निकलते है तो आप राजस्थान के माउन्ड आबू जरूर जाए | माउण्ड आबू पहाड़ी इलाका है | हरे भरे प्रकृति से भरा जगह है |

मध्यप्रदेश Madhya Pradesh - जैसे की नाम से ही पता चलता है मध्य मतलब बीच | मध्यप्रदेश इंडिया के नक्शा में बीच में आता है | दोस्तों आपने भी बहुत से लोगो से सुने होंगे या फिर आपने भी बोला होगा | जिसका पेट निकल जाता है | उसको लोग कहते है तुम्हारा मध्यप्रदेश बाहर निकल गया है मतलब आप मोटे हो गए हो | जैसे पेट शरीर के बीच में है वैसे मध्यप्रदेश इंडिया के नक्शा में बीच में है | मध्यप्रदेश इंडिया का सबसे बड़ा दूसरा राज्य है | मध्यप्रदेश का राजधानी भोपाल है | मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा शहर इंदौर है | मध्यप्रदेश का क्षेत्रफल 308252 वर्ग किलोमीटर है | मध्यप्रदेश में 55 जिला है | मध्यप्रदेश का राष्ट्र भाषा हिंदी और सिंधी है | मध्यप्रदेश 2000 के पहले इंडिया का सबसे बड़ा राज्य हुआ करता था |

पहले का मध्यप्रदेश और अब का मध्यप्रदेश में काफी अंतर है | छत्तीसग़ढ़ पहले मध्यप्रदेश का हिस्सा था | छत्तीसग़ढ़ का गठन 1 नवंबर 2000  को हुआ था | मध्यप्रदेश भी कृषि पर आधरित राज्य है | राज्य में 74 .73 आबादी ग्रमीण क्षेत्र में निवास करते है | मध्यप्रदेश में 49 प्रतिशत जमीन कृषि के योग्य है | मध्यप्रदेश में बहुत सारे त्योहार मनाया जाता है | आपना देश त्योहार के देश के नाम से जाना जाता है | आदिवासी का यहां पर महत्वपूर्ण त्योहार भगोरिया है | यह त्योहार बहुत धूमधाम के साथ मनाया जाता है | चित्रकूट में रामनवमी का त्योहार बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है | यहां पर उज्जैन कुंभ मेला भी लगता है | कुंभ मेला के बारे में तो आप जानते ही होगे | यह त्योहार इंडिया के चार स्थान पर मनाया जाता है | इलाहाबाद नासिक हरीद्वार और उज्जैन शहर में मनाया जाता है | यह त्योहार 12 वर्ष में मनाया जाता है |

मध्यप्रदेश के उज्जैन शहर को मंदिरो के शहर से जाना जाता है | मध्यप्रदेश के प्रमुख मंदिर पारसनाथ , चित्रगुप्त मंदिर ,वाराह मंदिर , पार्वती मंदिर , महादेव मंदिर, लक्ष्मण मंदिर , लक्ष्मी नारायण मंदिर , नीलकंठ महादेव मंदिर आदि है | दोस्तों मध्यप्रदेश में घूमने के स्थान - उप्पेर झील,गणेश मंदिर | यहां पर 12 ज्योतिलिंग में से एक महाकालेश्वर मंदिर भी है | यहाँ पर घूमने के लिए बहुत ही अच्छे स्थान और अच्छे मंदिर है जिसका दर्शन आपको करना चाहिए |



महाराष्ट्र Maharashtra - महाराष्ट्र इंडिया के दक्षिण में स्थित राज्य है | महाराष्ट्र इंडिया का सबसे बड़ा तीसरा राज्य है | और आर्थिक रूप से पहले स्थान पर है | मुंबई को आर्थिक राजधानी कहा जाता है | महाराष्ट्र शब्द संस्कृत शब्द से बना है महाराष्ट्र का मतलब महान देश होता है | यह शब्द यहां के संतो का देन है | महाराष्ट्र का राजधानी मुंबई है | मुंबई इंडिया का सबसे बड़ा शहर है | अगर मुंबई इंडिया का सबसे बड़ा शहर है तो महाराष्ट्र का भी सबसे बड़ा शहर भी मुंबई ही होगा | महाराष्ट्र ऐसा राज्य है जहां दो महानगर है एक मुंबई और दूसरा पुणे | 

महाराष्ट्र का गठन 1 मई 1960 में हुआ था | महाराष्ट्र में 36 जिला है | महाराष्ट्र में मराठी भाषा बोली जाती है लेकिन हिंदी भी लोग समझते है | आपने तो महान शिवा जी के बारे में जरूर सुना होगा | वीर छत्रपति शिवा जी ने ही मराठा साम्राज्य की स्थापना किये थे | शिवा जी एक बहुत ही महान युध्दा थे | शिवा जी हमारे देश के महान सपूत थे | नाशिक में कुंभ मेला लगता है | यह नगरी हिन्दु के लिए पवित्र नगर है | सिर्फ नाशिक ही क्यों | भारत के एक एक जगह हमारे लिए पूज्यनीय है | पुणे के ओशो आश्रम में हर साल त्योहार मनाया जाता है | महाराष्ट्र के गणेश पूजा बहुत ही प्रसिद त्योहारो में से एक है | 

महाराष्ट्र के नाशिक शहर दुनिया के सबसे बड़े प्याज का बाजार है | इंडिया में सबसे पहले ट्रैन मुंबई में ही चला था | जो की मुंबई से ठाणे के बीच चला था | महाराष्ट्र को हम फ़िल्म सिटी के रूप में भी जानते है | मुंबई बॉलीवुड के लिए फेमस है | मुंबई को माया नगरी कहा जाता है लोग आपने किस्मत बनाने मुंबई आते है | मुंबई को सपनो का शहर कहा जाता है | मुंबई के मूल निवासी मुम्बा देवी की पूजा करते है | दोस्तों इंडिया का सबसे धनी शहर मुंबई है लेकिन क्या आपको पता है की सबसे बड़ा झुग्गी कहाँ है वह भी मुंबई में ही है जो धारावी नाम से जाना जाता है | मुंबई का मौसम 12 माह गर्मी रहता है | 

मुंबई एक बहुत ही महंगा शहर है | आप महाराष्ट्र में गेटवे ऑफ़ इंडिया , एलोरा का गुफा , हिल स्टेशन , महाबलेश्वर मंदिर, नाशिक मेला कुंभ , गणपति पुले मंदिर आदि घूम सकते हो | लेकिन दोस्तों जब भी आप मुंबई आये को फ़िल्म सिटी जरूर घूमे |



उतरप्रदेश Uttar Pradesh - उतरप्रदेश को उतम प्रदेश भी कहते है | यह एक बहुत ही पवित्र धरती है | यही पर हमारे आदर्श श्री राम और महान आत्मा श्री कृष्ण का जन्म स्थल है | श्री राम का जन्मस्थल आयोध्या और श्री कृष्ण का जन्मस्थल मथुरा है | उतरप्रदेश का राजधानी लखनऊ है | लखनऊ उतरप्रदेश का सबसे बड़ा शहर भी है | यहां पर लोग हिंदी बोलते है | उतरप्रदेश का इतिहास बहुत ही पुराना है | काशी विश्वनाथ का मंदिर भी यही है | बौद्ध धर्म के लिए भी यह राज्य बहुत ही पूजनीय है | क्योकि महात्मा बुध्द ने आपना पहला उपदेश वाराणस ( काशी ) के निकट सारनाथ में दिया थे |

दोस्तों हमारे जीवन में नदिया का बहुत ही महत्व है गंगा को हमारी भारतीय संस्कृति में माँ कहा जाता है | उतरप्रदेश में बहुत से नदिया है जैसे गंगा ,यमुना ,केन ,गोमती ,सोम आदि है | अपने भी यमुना और गंगा का नाम जरूर सुना होगा | श्री कृष्ण के समय भी यमुना जी थे | श्री कृष्ण यमुना जी में जाकर विषैला नाग को वहां से भगाया था | उतरप्रदेश इंडिया का सबसे बड़ा राज्य में 4 नम्बर पर आता है | दोस्तों उतरप्रदेश का कुछ नाम बताते है फिर आपको पता चल जाइएगा की उतरप्रदेश का इतिहास कितना सुन्दर था | आयोध्या ,मथुरा ,काशी वाराणसी ,प्रयाग ,इलाहाबाद ,गोकुल ,वृंदावन आदि अब तो आपको पता चल गया होगा की यह नगरी कितना पवित्र है | 

 इस धरती पर मगध मौर्य कुषाण सुगा का इतिहास है | यहां पर भी कुंभ का मेला लगता है | अब बात करते है यहां के कृषि के बारे में यहां पर 66 प्रतिशत लोग कृषि पर आधरित है | वर्तमान में इंडिया का सबसे ज्यादा जनसंख्या यही है | दोस्तों 7 अजूबे में एक ताजमहल भी उतरप्रदेश में ही है |


गुजरात Gujarat - गुजरात इंडिया के पशिचम में स्थित है | गुजरात का इतिहास बहुत पुराना है | गुजरात का राजधानी गांधीनगर है और गुजरात का सबसे बड़ा जिला अहमदाबाद है | गुजरात का राज्यभाषा गुजरती है | गुजरात में 33 जिला है | इस राज्य का गठन 1 मई 1960 में हुआ था | गुजरात का इतिहास श्री कृष्ण के जीवन के सबंध से भी है | महात्मा गाँधी भी गुजरात से ही थे | हमारे प्रिय नेता सरदार पटेल भी गुजरात से थे | गुजरात का गरबा नृत्य बहुत ही फेमस है | सोमनाथ का मंदिर यही पर स्थित है | 

इंडिया का 5 वा सबसे बड़ा राज्य गुजरात है | गुजराती लोग बचत के लिए जाने जाते है | इस राज्य का नाम सुनते ही व्यापार याद आता है | गुजरात इंडिया के धनी राज्य में से एक है | गुजरात के सूरत में हीरा पालिश का बहुत बड़ा बाजार है | यहां दूध का उत्पादन बहुत ज्यादा होता है | दोस्तों आपने तो अमूल्य दूध का नाम जरूर सूना होगा | अमूल्य दूध का डेरी यही है | इंडिया में सबसे ज्यादा बंदरगाह गुजरात में है | गुजरात एक धनी राज्य में से एक है इंडिया का |


INDIA FLAG

कर्नाटक Karnataka - कर्नाटक दक्षिण इंडिया में स्थित है | कर्नाटक का राजधनी बेंगलुरु है | कर्नाटक का क्षेत्रफल 191791 वर्ग किलोमीटर है | कर्नाटक का राजभाष कन्नड़ है | कर्नाटक का गठन 1 नवंबर 1956 में हुआ था | कर्नाटक का इतिहास बहुत ही पुराना है | कर्नाटक में नन्द मौर्य सातवाहन का शासन रहा है | इन महापुरुषों ने कर्नाटक पर शासन किया है | यहां पर 66 प्रतिशत लोग कृषि का कार्य करते है | और 60 प्रतिशत जमीन कृषि के लिए उपयुक्त है | 

कर्नाटक को पहले मैसूर नाम से जाना जाता था | 1973 में मैसूर का नाम बदल कर कर्नाटक नाम रखा गया | कर्नाटक को काली मट्टी का जमीन कहा जाता है | कृष्ण ,कावेरी ,और काली नदिया यहां का पवित्र नदी है | कर्नाटक का राष्ट्रीय पशु हाथी और राष्ट्रीय पक्षी नीलकंठ है | और राष्ट्रीय फूल कमल का फूल है कर्नाटक का राष्ट्रीय पेड़ चन्दन का पेड़ है | कर्नाटक का राजधानी बेंगलुरु आईटी के लिए प्रमुख केंद्र है | कर्नाटक इंडिया का 6 सबसे बड़ा राज्य है | यहां के मुख्य उत्सव - हम्पी महोत्सव , वैरामुडी  महोत्सव ,कंबाला , होयसला महोत्सव , आदि है |


आंध्रप्रदेश Andhra Pradesh - आंध्रप्रदेश का राजधानी हैदरावाद है | आंध्रप्रदेश का सबसे बड़ा शहर विशाखापट्नम है | आंध्रप्रदेश बहुत ही सुन्दर राज्य है विशाखापट्नम का नाम सुनते ही क्रिकेट का याद आ जाता है | इंडिया में क्रिकेट को लोग कितना महत्व देते है उतना शायद और खेल को नहीं देते है | मेरे अंदाज से यह ठीक नहीं है सभी खेल को समान अधिकार मिलना चाहिए | आंध्रप्रदेश में 13 जिला है | आंध्रप्रदेश का राजभाषा तेलुगु है | तेलुगु हिंदी से बहुत ही भिन्न है | आंध्रप्रदेश का गठन 1 नवंबर 1956  को हुआ था | आंध्रप्रदेश का राष्ट्रीय पशु चिकारा और राष्ट्रीय पक्षी नीलकंठ है | और राष्ट्रीय फूल कुमुद का फूल है | राज्य का राष्ट्रीय पेड़ नीम है | 

यहां जनवरी में मकरसंक्राति और फरवरी में महाशिवरात्रि बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है | मार्च अप्रैल में तेलगु नया साल मनाया जाता है | इस राज्य में कृष्णा और गोदावरी नदी बहती है | आंध्रप्रदेश का सबसे बड़े शहर हैदरावाद है | यहां पर चावल का खेती बहुत होता है | तेलुगु फ़िल्म को लोग बहुत पसंद भी करते है |



ओडिशा Odisha - ओडिशा को पहले उड़ीसा नाम से जाना जाता था | ओडिशा इंडिया के पूरब में स्थित है | ओडिशा का राजधनी भुनेश्वर है | भुनेश्वर ओडिशा का सबसे बड़ा शहर भी है | ओडिशा का क्षेत्रफल 155707 वर्ग किलोमीटर है | ओडिशा में 30 जिला है | ओडिशा में 1 अप्रैल को उत्कल दिवस ( ओडिशा दिवस ) मनाया जाता है | राज्य में चावल का उत्पादन सबसे ज्यादा होता है | ओडिशा का प्रसिद त्योहार पूरी रथ यात्रा है | 

यहां का प्रमुख नदियाँ महानदी ब्राहाणी और बैतरनी है | यहां का झील का नाम चिलका झील है | ओडिशा का बहुत प्राचीन नाम कलिंग था | अशोक के बाद कलिंग एक स्वतंत्र राज्य बना  | चार धामों में से एक धाम पूरी में है | कोणार्क का सूर्य मंदिर ओडिशा में ही है | ओडिशा में 73 प्रतिशत लोग खेती से जुड़े हुए है | यह पर जगन्नाथ का मेला बहुत धूमधाम के साथ मनाया जाता है हर वर्ग के लोग और हर धर्म के लोग शामिल होते है | भारत ही एक ऐसा देश है जहां हर धर्म के लोग मिलकर रहते है | यहाँ पर आपको दुनिया का हर धर्म और हर संस्कृति के लोग आपको मिल जाएगा |


छतीसगढ़ Chhattisgarh - छतीसगढ़ का गठन 1 नवंबर 2000 को हुआ था | छतीसगढ़ का राजधनी रायपुर है | छतीसगढ़ का क्षेत्रफल 135191 वर्ग किलोमीटर है | छतीसगढ़ में हिंदी भाषा बोली जाती है | छतीसगढ़ बहुत तेजी के साथ विकाश कर रहा है | यहां का प्रचीन नाम दक्षिण कौशल था | यह राज्य खनिज राजस्व के दृष्टि से इंडिया का दूसरा सबसे बड़ा राज्य है | छतीसगढ़ को धान का कटोरा कहा जाता है क्योकि यहां पर धान के खेती ज्यादा होती है | छतीसगढ़ में कच्चे टीन का उत्पादन होता है | इस राज्य का राष्ट्रीय पशु और पक्षी जंगली भैस और पहाड़ी मैना है | देश के महान कवि कालिदास का जन्म भी छतीसगढ़ में हुआ था | 

अब छतीसगढ़ के पर्यटक स्थल के बारे में जान लेते है | बस्तर,कांकेर ,सेतगंगा,कवर्धा,भोमरामदेव ,मैनपाट  चित्रकोट, चंपारण ,सेवरिनरायण आदि है | छतीसगढ़ का इतिहास बहुत ही पुराना है | यहां का इतिहास महाभारत और रामायण में भी मिलता है | छतीसगढ़ में गोदावरी महदेवी इंद्रावती हसदेव आदि नदी बहती है | इस राज्य का प्रमुख नदी महानदी है | छतीसगढ़ में 85 प्रतिशत कृषि पर आधारित है | छतीसगढ़ मध्यप्रदेश से अगल हुआ था | छतीसगढ़ का सीमा सात राज्य से मिला हुआ है | छतीसगढ़ का प्रमुख मंदिर दांतेश्वरी माता महामाया मंदिर  चंदरपुर मंदिर , बम्लेश्वरी मंदिर आदि है | जो की शक्ति का प्रतिक है | छतीसगढ़ बहुत ही अच्छा राज्य में से एक है |


तमिलनाडु -  तमिलनाडु इंडिया के दक्षिण में स्थित है | तमिलनाडु का राजधानी है चेन्नई है | चेन्नई तमिलनाडु का सबसे बड़ा शहर भी है | चेन्नई का नाम सुनते ही IPL का याद आ जाता है | चन्नई टीम के कप्तान धोनी है जो इंडिया के पूर्व कप्तान थे | धोनी के कौन फैन नहीं है | धोनी ही एक ऐसा कप्तान है जो 3 फॉर्मेट में फ़ाइनल जीता है | तमिलनाडु में 32 जिला है | तमिलनाडु का राजभाषा तमिल है | तमिलनाडु का क्षेत्रफल 130058 वर्ग किलोमीटर है | इस राज्य का इतिहास 6000 वर्ष पुराना है | तमिलनाडु को द्रविड़ के उत्त्पति का स्थान माना जाता  है | 

तमिलनाडु प्रकृतिक परिपूर्ण एक मनमोहक राज्य है | जो लोग यहां घूमने आते है उसको तो प्रकृति का तो मजा तो मिलता ही है साथ ही बहुत कुछ ओर देखने मिलता है | दोस्तों तमिलनाडु में मंदिरो की कोई कमी नहीं है | तमिलनाडु के पड़ोसी राज्य केरल है | तमिलनाडु में बहुत से त्योहार मनाया जाता है | आइये दोस्तों अब आपको तमिलनाडु का मंदिरो का दर्शन कराते है | 

कपालेश्वर मंदिर KAPALEESWARAR TEMPLE - यह मंदिर तमिलनाडु के राजधनी चेन्नई में स्थित है | यह मंदिर भोलेनाथ और माता पार्वती को समर्पित है | यह मंदिर बहुत ही प्रसिद मंदिर है और बहुत ही पवित्र मंदिर है | अगर मंदिर भोलेनाथ का हो तो बात ही कुछ ओर है | भोलेनाथ बहुत ही भोले है | यहां पर बहुत ही धूमधाम के साथ उत्स्व मनाया जाता है | 

रामेश्वर मंदिर RAMESHWAR TEMPLE - यह मंदिर बहुत ही पवित्र मंदिर है | इस मंदिर का संबध श्री राम जी से है | यह मंदिर चार धामों में से एक है | यह मंदिर तमिलनाडु के रामनाथपुरण जिला में स्थित है | 

मीनाक्षी मंदिर मदुरै - MINAKSHI TEMPLE MDURAI - यह मंदिर भगवन भोलेनाथ और माँ पार्वती को समर्पित मंदिर है | यह मंदिर तमिलनाडु के मदुरै शहर में स्थित है | इस मंदिर में 33 हजार मुर्तिया आपको देखने मिलेगा | 

नटराज मंदिर  NATRAJ MANDIR - यह मंदिर बहुत ही पवित्र है | यह मंदिर शिव जी और नारायण को समर्पित है | 

एक टिप्पणी भेजें

4 टिप्पणियाँ