KNOWKAHINDI

KNOWKAHINDI
KNOWKAHINDI

Why Christmas is Celebrated

 Why Christmas is Celebrated .

दोस्तों आपने देश में जितना त्योहार होता है शायद ही कोई ऐसा देश हो जहां इतना त्योहार मनाता हो | त्योहार मनाने के पीछे बहुत सारा रहस्य या कारण होते है | Christmas ईसाई धर्म का मुख्य पर्व होता है | Christmas का इंतजार हर किसी को होता है | 

Christmas  सभी धर्म के लोग मिलकर मनाते है | दोस्तों शायद कोई देश होगा जो इतना पर्व सभी धर्म के लोग मिलकर मनाते होंगे | चाहे होली हो या ईद चाहे प्रकाश पर्व हो या Christmas सभी धर्म के लोग एक साथ मिलकर मनाते है | और Christmas wishes करते है | 


Christmas  ईसा मसीह के जन्मदिन की ख़ुशी में मनाया जाता है | Christmas  25 दिसंबर को मनाया जाता है | जिस दिन को Christmas  होता है उसके 1 वीक बाद 1 जनवरी होता है | Christmas  यीशु मसीह के जन्म दिन पर मनाया जाता है इसी दिन यीशु मसीह का जन्म हुआ था | तो आपको पता चल गया की  Why Christmas is Celebrated. 


ईसा मसीह जीवन परिचय :

दोस्तों दुनिया में अनेक महान पुरुष ने जन्म लिया है | उनमे से एक महान पवित्र आत्मा यीशु मसीह है जो की भगवन का फ़रिश्ता है | ईसा मसीह ईसाई धर्म का संस्थापक है | ईसा मसीह का जन्म जेरुशेलम के निकट बैथलेहम नमक स्थान पर हुआ था | ईसा मसीह का पिताजी का नाम जोसेफ और माँ का नाम मरियम थी | ईसा मसीह को जीसस नासरत,यीशु, आदि नाम से जाना जाता है | 


बाइबिल में यीशु मसीह के बारे में विस्तार से जानकारी मिलता है | यीशु ग्रीक शब्द 'इसुआ ' का अंग्रेजी अनुवाद है | जिसका अर्थ होता है जीवन देने वाला | यीशु का कोई उपनाम नहीं था | जिसके कारण लोगो ने इसे यीशु मसीह अर्थात जीवन देने वाला अभिषिक्त जान के रूप में पुकारना शुरू कर दिया | 


जब यीशु मसीह का जन्म हुआ उस समय यहूदियों के राजा महान रोमन हेरोदेस हुआ करते थे , रोमन धेरोदेस बहुत क्रूर राजा था | रोमन धेरोदेस ने राज्य में जितने बच्चे ने जन्म लिया हो सभी को मरने का आदेश दे दिया था | 


जब उन्होंने यीशु के जन्म के बारे में पता चला तो उन्हें यह भय सताने लगा की कही वह यहूदियों का राज्य गवां ना दे | 


ईसा मसीह के पिताजी लकड़ी का काम करते थे | यीशु मसीह ने भी कई वर्षो तक इस काम को किया | दोस्तों इससे हमे यह सीखने मिलता है की जो महान लोग होते है वह छोटा से छोटा काम करने में संकोच नहीं करते है | यीशु मसीह का जीवन ही सेवा था | यीशु मसीह ने 40 दिनों तक उपवास तथा 40 महीने तक अपने धर्म का प्रचार किया | 

'Christmas  Day .Christmas quotes



Christmas को बड़ा दिन भी कहा जाता है क्योंकि इस दिन से दिन थोड़ा थोड़ा बड़ा होते जाता है | Christmas पर अवकाश रहता है | इस दिन चर्च अच्छे से सजकर तैयार हो जाता है | इस त्योहार पर उपहार आदि दिया जाता है | चर्च का सजावट क्रिसमस का पेड़ रंग बिरंगी रोषिणिया झांकी तारा आदि से होता है | यह त्योहार बच्चे को बहुत पसंद होता है क्योंकि बच्चे को गिफ्ट आदि मिलता है सांता क्लॉज के द्वारा | यह पर्व कई दिन पहले शुरू हो जाता है | लोग इस पर्व पर ईसाई धर्म के पवित्र ग्रंथ बाइबिल पढ़ते है | 


Christmas की पूर्व संध्या से ही जर्मनी तथा अनेक देशो में समारोह शुरू हो जाता है | 


Christmas

क्या दोस्तों आपको पता है की सबसे पहले क्रिसमस कहाँ मनाया गया था | सबसे पहले Christmas  day रोम में मनाया गया था | Christmas  के दिन सुबह सुबह उठ जाते है स्नान आदि करके चर्च जाते है चर्च में प्रार्थना और बाईबिल का पाठ होता है | भगवान से जुड़ने के सबसे आसान साधन प्रार्थना है 

इस दिन केक काटते है और एक दूसरे को खिलाते है | एक दूसरे में साथ खुशिया मनाते है | 


Why-Christmas-is-Celebrated


Christmas Tree 

क्रिसमस डे पर सबसे ज्यादा महत्व क्रिसमस ट्री का होता है | इसके पीछे भी एक कहानी है | आइये जानते है  इसके बारे में | 

क्रिसमस के दिन सदाबहार वृक्ष को सजाकर सेलिब्रेशन किया जाता है | यह परम्परा जर्मनी से शुरू हुई .थी जिसमे एक बीमार बच्चे को खुश करने के लीला मस्के 'पिता ने सदाबहार वृक्ष को सुन्दर तैयार करके मौसे गिफ्ट दिया। इसके 'आलावा यह भी कहा जाता है की जब जीजस का जन्म हुआ।  तब ख़ुशी व्यक्त करने के लिए सभी देवताओ ने सदाबहार वृक्ष को सजाया तब से इस वृक्ष को क्रिसमस ट्री का प्रतिक यह परंपरा प्रचलित हो गई |  


Christmas wishes

आपकी आँखो में सजे हो जो भी सपने,

और दिल में छुपी हो जो भी अभिलाषाएं ,

ये क्रिसमस का पर्व उन्हें सच कर जाये, 

आप के लिए है हमारी यही शुभकामनाये || 


चाँद ने अपनी चांदनी बिखेरी है , 

और तारों ने आसमां को सजाया है , 

लेकर तौफा अमन और प्यार का, 

देखो स्वर्ग से कोई फरिश्ता आया है | | 


सबके दिलों में हो सबके लिए प्यार,

आने वाला हर दिन लाए खुशियों का त्यौहार, 

इस उम्मीद के साथ आओ भूलके सारे गम, 

क्रिसमस में हम सब करे वेलकम || 


ना कार्ड भेज रहा हूँ 

ना कोई फूल भेज रहा हूँ 

सिर्फ सच्चे दिल से मैं आपको 

क्रिसमस और नव वर्ष की 

शुभकामनाएं भेज रहा हूँ || 


आपकी आँखो में सजे हो जो भी सपने ,

दिल में छुपी  हो जो भी अभिलाषाएँ 

ये क्रिसमस का पर्व उन्हें सच कर जाये, 

क्रिसमस पर आपके  हमारी यही शुभकानाए || 


 दोस्तों से हर लम्हा क्रिसमस है ,

दोस्तों की यह दुनिया दीवानी है ,

दोस्तों के बिना जिंदगी बेकार है 

दोस्तों से ही जिंदगी में बहार है || 


क्रिसमस प्यार है क्रिसमस ख़ुशी है , 

क्रिसमस उत्साह है क्रिसमस नया उमंग है|| 

आप सभी को २०२० की क्रिसमस का शुभकामनाएँ  || 



जहा सारा मुस्कुराया फिर से क्रिसमस आया 

दिल को दिल से मिलाने ढेर सारी खुशियाँ लाया || 


क्रिसमस का ये प्यारा सा त्योहार 

जीवन में लाए खुशिया अपार

 सांता क्लॉज आये आपके घर 

 शुभकामना करे स्वीकार || 


लो आ गया जिसका था इंतजार 

सब मिल कर बोलो मेरे यार ,

दिसंबर लाया क्रिसमस  बहार 

मुबारक हो क्रिसमस तुमको मेरे यार || 


यह एक खुशियाँ का त्यौहार है इस अवसर पर christmas greeting भी भेजते है | 


Christmas message

चाहे कोई भी त्यौहार हो हमे सेवा भाव के साथ शांति पूर्वक और पवित्र मन के साथ पर्व मनाया चाहिए | 


CHHATH PUJA. छठ पूजा | 

दिपावली  पूजा लक्ष्मी पूजा काली पूजा के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य |

ESSAY ON DURGA PUJA . दुर्गा पूजा पर  निबंध |

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ